My Hindi/Urdu translation of Kimberly Blaeser’s “What they did by Lamplight”

My Hindi/Urdu translation of Kimberly Blaeser’s “What they did by Lamplight”

लैंप की रौशनी में उन्होंने

चावल साफ़ किये, हाथ से सिलाई की
पाई बनाईं, धुनें बजाईं
जीन्स पर पैबंद लगाए, पासे हिलाए
मछली साफ़ की, सिगरटों के रोल बनाए
“द फारमर” रिसाले को पढ़ा
गलीचे बुने, जालों को रफ़ू किया, कहानियाँ सुनाईं
चिट्ठियां लिखीं, माला बनाई, रजाइयों के चौक काटे
स्वाम्प टी उबाली, बच्चे जने।
जुराबों के टाँके भरे,आलू छीले, कॉफी पी
ताश फेंटे, बाल काटे, टमाटरों को डब्बों में हिफाज़त से भरा
आटा छाना, मोती पिरोए, गिरजे के गाने गाए।
जुराबें रगड़ कर साफ़ कीं, चुगली की
लोकगीत गाये
तम्बाकू की मन्नत थैलियां बनाईं
मीठी घास गूँथी
अपने मृतकों की तैयारी की।
फ्रॉस्टिंग फेंटी
हंसी की
कढ़ाई की
बादाम अखरोट तोड़े
स्वेटरों से रोंए हटाए
अपने आंसू पोंछे।
पैसे के मर्तबान में पुराने सिक्के ढूंढे
मटर छीले, सनौवर की छाल को काटकर नमूने बनाये
एक से बटनों को एक साथ पिरोया
आग जलाई, साबुन बनाया, हाथ थामे
रोटी के लिए आटा गूंधा, बीजों की सूची पढ़ी, धूम्रपान किया
सेब काटे, मार्जरीन में रंग निचोड़ा।
डायपर बदले, भुट्टे से भूसी अलग की, दाल राजमा भिगोए
बच्चों को झूला दिया, पानी उबाला, क्रोशिए से रुमाल बनाये
सूरजमुखी के बीज साफ़ किए, सोआ का अचार भरा।
छुरियों की धार तेज़ की, खाया, कपड़े इस्त्री किए
एक साथ नाच किया
बच्चों को दूध पिलाया
अपनों को याद किया जो दुनिया से चले गए।

(The Original)

What they did by Lamplight

Clean rice, handstitch
make pies, roll jingles
patch jeans, shake dice
clean fish, roll cigarettes
read from The Farmer
Braid rugs, mend nets, tell stories
write letters, bead, cut quilt squares
boil swamp tea, deliver their babies.
Darn socks, peel potatoes, drink coffee
shuffle cards, cut hair, can tomatoes
sift flour, bead, sing church songs.
Scrub socks, gossip.
sing country songs
make tobacco ties
braid sweet grass
prepare their dead.
Beat frosting
laugh
embroider
crack nuts
depill sweaters
wipe their tears.
Search penny jar for old coins
shell peas, cut birchbark patterns
thread matching buttons together.
Build fire, make soap, join their hands
knead bread, read seed catalogues, smoke
slice apples, squeeze color into margarine.
Change diapers, shuck corn, soak beans
rock their children, boil water, crochet doilies
clean sunflower seeds, can dill pickles.
Sharpen knives, eat, iron
dance together
nurse their babies
remember their dead.

My Hindi/Urdu translation of Charles Simic’s “Birds Know”

My Hindi/Urdu translation of Charles Simic’s “Birds Know”

पंछी जानते हैं

एक तालाब है, एक आदमी ने कहा,
दूर पीछे इस जंगल में,
जिसके बारे में पंछी और हिरन जानते हैं
और वहां अपनी प्यास बुझाते हैं

इतने ठंडे और साफ़ पानी में,
जैसे एक नया नकोर शीशा हो
किसी को अभी तक देखने का मौका नहीं मिला,
सिवाय, शायद, उस छोटे लड़के के,

जो बहुत साल पहले गुम गया था,
और हो सकता है उसमें डूब गया था,
या फिर छोड़ गया हो कोई निशाँ
उसके पथरीले किनारे के पास खेलते हुए,

बेहतर होगा मैं जाऊं और पता लगाऊं,
आज ही की रात, मैंने कहा अपने आप से,
मेरे दिल-ओ -दिमाग़ हंगामाख़ेज़,
और सनकी चाँद इतना रोशन.

(The Original)

Birds Know

There’s a pond, a man said,
Far back in these woods,
Birds and deer know about
And slake their thirst there

In a water so cold and clear,
It’s like a brand-new mirror
No one had a chance to look at yet,
Save, perhaps, that little boy,

Who went missing years ago,
And may’ve drowned in it,
Or left some trace of himself
Playing along its rocky edges.

I better go and find out,
This very night, I said to myself,
With my mind running wild,
And the moon out there so bright.